डॉ. ए.पी.जे अब्दुल

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल

1931-2015

भारत के पूर्व राष्ट्रपति के रुप में भारतीय इतिहास के प्रदीप्तमान नक्षत्र, डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने भारत को एक विकसित देश बनाने का सपना देखा था। जिस हेतु उन्होंने कहा कि- “स्वप्न साकार करने के पूर्व, आवश्यक है स्वप्न देखना” वे “भारत के मिसाइल मैन” के रुप में हैं क्योंकि बैलिस्टिक मिसाइल और अंतरिक्ष रॉकेट तकनीक के विकास में उन्होंने अविस्मरणीय योगदान दिया है। देश में रक्षा तकनीक के विकास के पीछे वे संचालक शक्ति थे। उनके महान योगदान ने देश को परमाणु राष्ट्रों के समूह में खड़ा होने का मौका दिया। वे दूरदर्शिता एवं पूर्ण विचारों से युक्त व्यक्ति थे, उन्होंने अपनी पुस्तक “भारत 2020” में देश के विकास की कार्य योजना को स्पष्ट किया। अब्दुल कलाम जी के अनुसार, देश की वास्तविक सम्पत्ति युवा हैं, इसी कारण वे सदैव युवाओं को प्रोत्साहित और प्रेरित किया करते रहें हैं। रामेश्वरम के साधारण बालक से देश के राष्ट्रपति के पद को सुशोभित करने तक उनका समस्त जीवन आज हम सब के लिए प्रेरणास्रोत है। शिक्षक, वैज्ञानिक तथा भारत के राष्ट्रपति के रूप में अपने सभी दायित्वों के आदर्श माने जाने वाले डॉ ए.पी.जे अब्दुल जी को समस्त तूर्यनाद परिवार कोटि-कोटि नमन करता है।