event

नुक्कड़ नाटक

साँस लेती अभिनय की वे सुंदर कठपुतलियाँ यहाँ,
झुकती, अकड़ती, शोर करती कलाकारों की ये टोलियाँ।

नुक्कड़ नाटक एक ऐसी नाट्य विधा है, जो परंपरागत रंगमंचीय नाटकों से भिन्न है। यह रंगमंच पर नहीं खेला जाता तथा आमतौर पर इसकी रचना किसी एक लेखक द्वारा नहीं की जाती, बल्कि सामाजिक परिस्थितियों और संदर्भों से उपजे विषयों को इनके द्वारा उठाया जाता है।
नियमावली-
1. एक प्रतिभागी समूह में अधिकतम 25 सदस्य हो सकते हैं।
2. यदि समूह के द्वारा प्रस्तुत नुक्कड़ का विषय अथवा नुक्कड़ का कोई भाग निर्णायक मंडल को अनुचित लगता है, तो समूह को प्रतियोगिता से निष्कासित किया जा सकता है।
3. समूह द्वारा अपनी प्रस्तुति देने हेतु अधिकतम समय सीमा 25 मिनट है।
4. समूह को वाद्ययंत्रों एवं नुक्कड़ से जुड़ी उपयोगी रंगमंच सामग्री प्रयोग करने की अनुमति है।
5. प्रस्तुति का समय निर्धारित समय-सीमा से अधिक होने की स्थिति में समूह के कुल अंकों में कटौती की जाएगी।
6. प्रस्तुति में किसी भी प्रकार के अनुचित शब्दों का प्रयोग वर्जित है।
संपर्क-
चिनाब त्रिवेदी +91-9079638720
कामिनी उईके +91-9630314972

तूर्यनाद'18

  • प्रथम चरण हेतु समूह जिस विषय पर नुक्कड़ कर रहा है, वह यदि पहले किया जा चुका हो, तो उस के वीडियो का लिंक अथवा अपने किसी भी एक नुक्कड़ के वीडियो का लिंक तथा समूह के सभी सदस्यों का विवरण एवं पंजीयन क्रमांक "प्रविष्टि - अखिल भारतीय नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिता” के नाम से समय सीमा के अन्दर [email protected] पर भेजना होगा। उस वीडियो के आधार पर ही समूह को द्वितीय चरण में प्रस्तुति हेतु चयनित किया जाएगा।
  • ऑनलाइन प्रविष्टि भेजने की अंतिम तिथि 6 सितम्बर है।
  • प्रथम चरण में से सर्वश्रेष्ठ दलों को द्वितीय चरण के लिए मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में आमंत्रित किया जाएगा।