कार्यशाला
उद्देश्य- सार्वभौमिक स्वीकृति और इसके लिए विकसित किए जा रहे तकनीकी समाधानों के बारे में जागरूकता पैदा करने एवं इंटरनेट व्यवसायों, डेवलपर्स और स्टार्टअप समुदाय तक पहुंचने के लिए। योग्यता - सभी इच्छुक छात्र-छात्राएँ आमंत्रित है। पंजीयन - कार्यशाला के लिए दिए हुए लिंक पर पंजीयन करें।https://tiny.cc/Tooryanaad विवरण –
  1. सार्वभौमिक स्वीकृति अनुपालन सभी डोमेन नाम, ईमेल पता, आईडीएन, ईमेल को कई लिपियों में प्रदर्शित करने, स्वीकार करने और सत्यापन करने का आश्वासन देता है। जिसमें वर्तमान में यूएएसजी द्वारा विकसित 11भारतीय लिपियाँ शामिल हैं। सार्वभौमिक स्वीकृति इंटरनेट पर किसी भी लेनदेन को निर्बाध रूप से पूरा करना सुनिश्चित करती है, चाहे वह वित्तीय हो, ई-कॉमर्स लेन-देन, ई-मेल रेंडरिंग या अन्य किसी भी भाषा में हो।
  2. इस कार्यशाला में एक संगोष्ठी होगी, जिसमें सार्वभौमिक स्वीकृति कोडिंग टूल पर एक ट्यूटोरियल होगा, जिसके बाद एक कोडिंग चुनौती होगी जिसमें स्थानीय डेवलपर्स प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।
  3. कार्यशाला डॉ. हरीश चौधरी जी द्वारा प्रस्तुत की जाएगी।
कोडिंग प्रतियोगिता के नियम -
  1. प्रतिभागी प्रतियोगिता के लिए स्वयं के लैपटॉप ले कर आएं।
  2. इंटरनेट सुविधा आयोजन समिति द्वारा प्रदान की जाएगी। यदि आप स्वयं का साधन ले कर आते है, तो सराहनीय है। कार्यशाला और कोडिंग प्रतियोगिता निःशुल्क है।
  3. आप एक समूह (2-5) के साथ आ सकते हैं या एकल आ सकते हैं, साइट पर यादृच्छिक समूह गठन भी होगा।
चुनौती की अवधारणा-
  1. चुनौती से पहले 45 मिनट का एक ट्यूटोरियल सत्र होगा, जहाँ यूएएसजी के यूए राजदूत उपकरणों की उपयोगिता, उपयोग के मामलों आदि को साझा करेंगे।
  2. प्रतिभागियों को अपने मौजूदा या नए उत्पाद पर कोड करना होगा।
  3. प्रतिभागियों को चुनौती के बाद जूरी के समक्ष अंतिम निष्पादन प्रस्तुत करना होगा।
  4. कोडिंग के दौरान आपके सामने आने वाली चुनौतियों को साझा करने और आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले टूल को साझा करने के लिए स्वतंत्र महसूस करें।
  5. किसी भी वैकल्पिक प्रभावी उपकरण के उपयोग करने पर अतिरिक्त अंक दिए जाएंगे।
संदर्भ के लिए उपकरण / पुस्तकालय / परियोजनाएँ-
  1. RFC 5891 में निर्दिष्ट IDNA प्रोटोकॉल के लिए समर्थन है। यह प्रोटोकॉल का नवीनतम संस्करण है और कभी-कभी इसे "IDNA 2008" कहा जाता है। यह लाइब्रेरी यूनिकोड टेक्निकल स्टैंडर्ड 46, यूनिकोड आईडीएनए कम्पैटिबिलिटी प्रोसेसिंग के लिए भी समर्थित है।
  2. यह "encoding.idna" मॉड्यूल के लिए एक उपयुक्त प्रतिस्थापन के रूप में कार्य करता है जो Python मानक library के साथ आता है, लेकिन केवल पुराने, पदावनत IDNA विनिर्देश (RFC 3490) के लिए समर्थित है।
  3. https://uasg.tech/software/ -प्रतिभागियों इन लिंक के माध्यम से इस प्रक्रिया से परिचित हो सकते है।

दिनांक और समय तकनीकी कार्यशाला -15 सितंबर, 2019/ सुबह 9:00-12:00 बजे
नव शिक्षण खण्ड(NTB)
कोडिंग प्रतियोगिता - 15 सितंबर, 2019/दोपहर 1:00-4:00बजे
नव शिक्षण खण्ड(NTB)
समन्वयक प्रांजल वार्ष्णेय - 8979087987
मिताली बंसल - 98281 90760
पुरस्कार प्रथम पुरस्कार - 7000 ₹
द्वितीय पुरस्कार - 5000 ₹
तृतीय पुरस्कार - 3000₹
-->