भारतीय परिधानिका-स्वदेशी फैशन शो
"धरोहर से, मनोहर से, अद्भुत मेल परिधान का
कृतियों का, संस्कृतियों का संगम है परिधानिका।"
उद्देश्य- भारत देश विभिन्न संस्कृतियों से परिपूर्ण एवं सौंदर्य-समृद्ध देश है। यहाँ की भिन्न-भिन्न संस्कृतियाँ ही हमारे देश की पहचान है। इन सब संस्कृतियों एवं उनके सौंदर्य को प्रदर्शित करना ही इस प्रतियोगिता का उद्देश्य है। अनेकता में एकता भारतीय संस्कृति की विशेषता है।
भूमिका- भारतीय परिधानों पर आधारित स्वदेशी फैशन व रैम्पवॉक।
अर्हता- भारत के किसी भी महाविद्यालय के छात्र-छात्राएँ प्रतिभाग कर सकते हैं।
पंजीयन- इच्छुक छात्र-छात्राओं को www.tooryanaad.in पर पंजीयन करना होगा।
निर्णय का आधार-
  1. परिधान
  2. आत्मविश्वास
  3. समूह रचना
  4. पदचाल
  5. रचनात्मक
  6. पदचाल के बाद समूह से प्रश्न पूछें जाएंगे जो समूह द्वारा धारण किए गए परिधानों पर आधारित होंगे।
नोट– समूह के प्रतियोगिता में किसी भी प्रकार के बदलाव का सर्वाधिकार राजभाषा कार्यान्वयन समिति, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान अपने पास सुरक्षित रखती है। किसी भी प्रकार के वाद-विवाद की स्थिति में समिति का निर्णय अंतिम एवं सर्वमान्य होगा।
दिनांक और समय प्रथम चरण-8-सितम्बर-2019 तक
ऑनलाइन
अंतिम चरण-14-सितम्बर-2019 सायं 5 बजे से 7 बजे/राधाकृष्णन सभागार(SAC)
समन्वयक साक्षी- 9171972590
दिया- 8435404668
आशुतोष- 8052660448
पुरस्कार प्रथम पुरस्कार - 10000 ₹
द्वितीय पुरस्कार - 7000 ₹
तृतीय पुरस्कार - 3000₹
-->
  • नियमावली–
    1. समूह में केवल छात्र, केवल छात्राएँ या दोनों सहभागिता दर्ज कर सकते हैं। समूह में 6 से 8 प्रतिभागी हो सकते हैं।
    2. प्रत्येक समूह को अपनी समूह छायाचित्र (फोटो) व रैंप की वीडियो (समय सीमा १ मिनट ३० सेकंड ) तूर्यनाद अणुडाक [email protected] पर इनबॉक्स करनी होगी।
  • रूपरंग (theme)-
    1. प्रतिभागियों में छात्राओं को साड़ी पहनने की विभिन्न शैलियों का व छात्रों को धोती, कुर्ता, मोजरी एवं साफा (पगड़ी) की विभिन्न शैलियों का प्रदर्शन करना होगा। इसके लिए प्रतिभागी समूह को अपने छायाचित्र व रैंप की वीडियो नियमावली में दिए गए निर्देशों के अनुसार भेजना होगा।
    2. प्रतिभागियों को अपने समूह के सभी सदस्यों का नाम, तूर्यनाद पंजीयन क्रमांक, महाविद्यालय का नाम, और समूह प्रमुख का संपर्क सूत्र छायाचित्र और वीडियो के साथ ही इनबॉक्स करना होगा।
    3. प्रतियोगिता के लिए छायाचित्र व वीडियो 8 सितंबर तक भेजे जा सकते है। सभी समूहों को किसी भी फार्मेशन में एक समूह छायाचित्र भी भेजना होगा।
  • निर्णय का आधार–
    1. परिधान
    2. पृष्ठभूमि (background)
    3. रचनात्मकता
  • आप अपने छायाचित्र व वीडियो तूर्यनाद पेज पर संदेश कर सकते है, जिसकी लिंक निम्नवत हैं। ईमेल [email protected] या whatsapp पर भी भेज सकते हैं।
    1. चयनित प्रतिभागियों को पूर्व निर्धारित रूपरंग का चयन कर अंतिम चरण में अपने परिधानों का प्रदर्शन करना होगा।
    2. आप अपना विवरण तूर्यनाद पेज पर सन्देश द्वारा भेज सकते हैं।
  • स्थान- राधाकृष्णन सभागार, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल।
  • रूपरंग (theme)-
    सोने कि चिड़िया कहलाने वाले भारत का एक गौरवशाली इतिहास रहा है। यहाँ से हमने अनेकता में एकता एवं अखंडता वाली संस्कृति पायी है। इतिहास के पन्नो में भारत के विभिन्न राज्यों कि संस्कृति, त्योहार एवं परिधानों की विविधता बताई गई है। प्रथम चरण में चयनित प्रतिभागी समूह को भारत का गौरवशाली इतिहास थीम पर परिधान पहनने होंगे।
    समय सीमा- 7 से 8 मिनट।