रचनात्मक लेखन
"भावों के सह से, पन्नों पे उकेरो एक अमर कथा ।
कलमों के इस युद्ध में, लिख डालो विजय गाथा ।।"
उद्देश्य- लेखन वह प्रक्रिया है जिसमें हम अपने मन के विचारों को लिखित रूप में व्यक्त करते हैं। रचनात्मक लेखन के अंतर्गत प्रतिभागी को अपने विचारों को कलात्मक लेख के रूप में प्रस्तुत करना होता है।
अर्हता- प्रतिभागी का भारत के किसी भी महाविद्यालय का छात्र या छात्रा होना अनिवार्य है।
पंजीयन- इच्छुक छात्र–छात्राएँ www.toorynaad.in पर जाकर ऑनलाइन या प्रतियोगिता के समय भी ऑफलाइन पंजीयन करा सकते हैं।
निर्णय- अंकों का बंटन निम्न बिंदुओं के आधार पर किया जाएगा।
  1. भाषा
  2. शैली
  3. विषयबोध
  4. व्याकरण एवम् शुद्धता
  5. नवीनता
  6. रचनात्मकता
नोट- प्रतियोगिता में किसी भी प्रकार के बदलाव के सर्वाधिकार राजभाषा कार्यान्वयन समिति, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान अपने पास सुरक्षित रखती है। किसी भी प्रकार की वाद-विवाद की स्थिति में समिति का निर्णय अंतिम एवं सर्वमान्य होगा।
दिनांक और समय प्रथम चरण15- सितम्बर-2018/ प्रात: 9 बजे से 11 बजे
नव शिक्षण खण्ड (NTB)
समन्वयक ऋतम्भरा पटेल- 9131390986
शिवानी अग्रवाल- 8218453212
अर्चित मिश्रा- 9453402993
पुरस्कार गद्य- प्रथम पुरस्कार-2000₹
द्वितीय पुरस्कार-1000₹
पद्य - प्रथम पुरस्कार-2000₹
द्वितीय पुरस्कार-1000₹
-->
  • सम्पूर्ण प्रतियोगिता एक ही चरण में होगी।
  • प्रतिभागी अपने अनुसार लेखन की किसी भी विधा का चयन कर सकते हैं।
  • प्रतियोगिता के दो भाग है गद्य रचना और पद्य रचना। प्रतिभागी इन दोनों में से किसी भी एक भाग का चयन कर सकते हैं।
  • प्रतिभागियों को विषय निम्न माध्यमों से दिए जाएँगे-
    1. विशेष चित्रों के माध्यम से
    2. सांकेतिक पंक्तियों द्वारा
  • उत्तम गद्य रचना और पद्य रचना को पुरस्कृत किया जाएगा।