event

समूह गायन

“घुमड़-घुमड़ बरसेगा अम्बर जब होगा मेघ-मल्हार, झूम उठेगी सारी धरती जब होगा स्वर-संग्राम| ”

भारतीय संस्कृति का महिमा मंडन करती हुई विभिन्न गायन शैलियों से युवाओं का परिचय कराना। “तूर्यनाद” के द्वारा मनमोहक गायन शैलियों को मंच प्रदान करना ही “स्वर संग्राम” का प्रमुख उद्देश्य है।
भारतीय समाज में संगीत से जुड़े उन तमाम लोगों को, जिनके मन में हिंदी के प्रति प्रेम की भावना नगण्य है या फिर बहुत कम है, हिन्दी के इस महायज्ञ से जोड़ने के लिए तूर्यनाद’16 में अखिल भारतीय समूह गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता दो चरणों में संपन्न हुई। भारत के सभी महाविद्यालयीन छात्र-छात्राएँ 2 से 8 व्यक्तियों के समूह में इस प्रतियोगिता में भाग ले सकते थे। गायन का विषय वस्तु लोक-गीत, देशभक्ति, प्रेरणादायक, धार्मिक, शास्त्रीय (भाषा भारतीय एवं आपत्तिजनक नहीं ) था। प्रथम चरण में प्रतिभागियों का चयन समूहों द्वारा भेजे गये स्पष्ट आवाज़ में अपने गाने के 2 मिनट कि वीडियो रिकॉर्डिंग के आधार पर किया गया। द्वितीय चरण में सभी चयनित समूहों ने अपनी प्रस्तुति दी। प्रस्तुति में अधिकतम 2 वाद्ययंत्रों का उपयोग किया गया था तथा वाद्ययंत्रों का उपयोग अनिवार्य नहीं था। वाद्य यन्त्र वादक भी समूह का हिस्सा थे। द्वितीय चरण डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन सभागार, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल में आयोजित किया। प्रतियोगिता की कुल ईनामी राशि ₹ 20000 थी।

तूर्यनाद'17

  • नियमावली:
    • समूह केवल छात्रों, केवल छात्राओं अथवा दोनों का हो सकता है।
    • समूह में अधिकतम 10 व न्यूनतम 4 प्रतिभागी हो सकते हैं।
    • प्रस्तुति में अधिकतम 4 वाद्ययंत्रो का उपयोग किया जा सकता है तथा वाद्य-यंत्रों का उपयोग न करने की स्थिति में समूह अपना केरिओके अवश्य उपयोग करें|
    • वाद्य-यन्त्र वादक भी समूह का हिस्सा होगें।
    • प्रविष्टि भेजने का माध्यम: समूह गायन का वीडियो tooryanaad@gmail.com पर भेज सकते हैं अथवा 9685795516 पर व्हाट्सएप्प कर सकते ।
    • विडियो के साथ समूह प्रमुख का संपर्क सूत्र एवम सभी सदस्यों का तूर्यनाद क्रमांक भेजना अनिवार्य है।
    • विषय वस्तु- लोक-गीत, राग, देशभक्ति, प्रेरणादायक, धार्मिक, शास्त्रीय।
    • गीत की भाषा भारतीय होनी चाहिए, जिसमें कोई भी आपत्तिजनक बोल ना हो।
    • प्रस्तुति की समय सीमा का सख्ती से पालन करना होगा अन्यथा समूह को नकरात्मक अंक प्रदान किये जाएँगे।
    • स्वरचित गीतों के गायन की अनुमति है।
    • समूह सदस्यों का परिधान भारतीय होना चाहिए।
    • वाद्य-यन्त्र संस्थान द्वारा प्रदत्त नहीं होगें।
  • प्रथम चरण(ऑनलाइन):
    • सभी समूहों को अपने गाने की 2-3 मिनट की वीडियो रिकॉर्डिंग निर्धारित लिंक (tooryanaad@gmail.com) अथवा 8959615309 पर व्हाट्सएप्प पर भेजना होगा, जिसमें आवाज़ स्पष्ट होनी चाहिए।
    • इस चरण से 8 समूहों का चयन किया जाएगा।
    • चयनित समूहों को अपनी अंतिम प्रस्तुति की सारी जानकारी संबंधित कार्यक्रम प्रबंधक को दिनांक:_25 अक्टूबर 2017 तक अनिवार्यतः देनी होगी।
    • सभी 8 चयनित समूह मौलाना आज़ाद प्रौद्योगिकी संस्थान में अंतिम चरण की प्रस्तुति देंगे।
    • अंतिम चरण में प्रस्तुति की समय सीमा 5-7 मिनट है।
    • अंतिम चरण से चयनित समूहों को प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जायेगा, साथ ही अन्य 5 समूहों को सहभागिता प्रमाण-पत्र प्रदान किया जायेगा।

समय सारिणी

चरण दिनांक समय स्थान
प्रथम चरण 7 अक्टूबर 2017 से 21 अक्टूबर 2017 ऑनलाइन
अंतिम चरण 27 अक्टूबर 2017 11 बजे से 1 बजे डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन सभागार, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रोद्योगिकी संस्थान, भोपाल