event

प्रज्ञान

आओ खेलें हम ऐसा एक खेल,
जिसमें हो वक्तव्य, बुद्धि और विवेक का मेल।

उद्देश्य - प्रतिभागियों की बौद्धिक, विवेकात्मक एवम् वक्तव्य क्षमता को परखना।
अर्हता - प्रतिभागी को भारत के किसी भी महाविद्यालय का छात्र या छात्रा होना अनिवार्य है।
संपर्क-
अमर सिंह +91-8952007463
साक्षी माहेश्वरी +91-9171972590

तूर्यनाद'18

  • प्रतिभागियों के समूह बनाकर उनके बीच में किसी विषय पर चर्चा करवाई जाएगी।
  • कुशल वक्ताओं एवं अच्छे तर्क देने वाले प्रतिभागियों को अगले चरण के लिए चुना जाएगा।
  • इस चरण में विषयों को तीन वर्गों में बाँटा गया है-
    1. राजनीति एवं भ्रष्टाचार
    2. भारतीय सांस्कृतिक एवं सामाजिक
    3. अन्य कुछ मज़ेदार विषय
  • प्रतिभागियों को तीन में से कोई एक वर्ग चुनने का मौका दिया जाएगा। चयनित वर्ग में से कोई एक अनिवार्य विषय प्रतिभागी को दिया जाएगा। तत्पश्चात सोचने के लिए 2 मिनट का समय प्रदान किया जाएगा। प्रत्येक प्रतिभागी को बोलने के लिए 2 मिनट का समय दिया जाएगा।
  • प्रस्तुतीकरण भाषा-शैली एवं विषय-वस्तु के आधार पर द्वितीय चरण के लिए प्रतिभागियों का चयन किया जाएगा। कुशल वक्ताओं को अगले चरण के लिए चयनित किया जाएगा।
  • इस चरण के लिए 8 प्रतिभागी चयनित किये जाएँगे। इनके बीच संसदीय वाद-विवाद कराया जाएगा।
  • संसदीय वाद-विवाद के बारे में अंतिम चरण से पूर्व एक कार्यशाला के माध्यम से समझाया जाएगा।
  • जिस प्रतिभागी द्वारा हिन्दी भाषा का सबसे कुशल उपयोग किया जाएगा उसे विशेष पुरस्कार ‘कुशल हिन्दी वक्ता’ से पुरस्कृत किया जाएगा।